rajni_tirupati_temple_photos

हाल ही में रजनीकांत एक मंदिर में अपने सादे पहनावे में मंदिर गए, जहाँ दर्शन के बाद वे मंदिर के किनारे थोड़ी देर के लिए बैठ गए। तभी वहां से एक महिला गुजरी और उसने रजनीकांत को भिखारी समझते हुए 10 रूपए का नोट भीख में दिया। लेकिन रजनीकांत की सादगी का जवाब नहीं.. उन्होंने न सिर्फ वो नोट मुस्कुराकर ले लिया, बल्कि उस महिला से कुछ भी नहीं कहा। नोट लेने के बाद वे उठकर अपनी कार की ओर चले गए। उन्हें जाते देखकर महिला को समझ आया कि वे कोई भिखारी नहीं, बल्कि साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत हैं, तो उसने जाकर रजनीकांत से माफ़ी मांगी।

इसके जवाब में रजनीकांत ने उस महिला से जो कहा, उसे सुनकर आप भी रजनीकांत की सादगी और उनके स्वभाव को सलाम करेंगे। रजनीकांत बेहद नम्रता से मुस्कुराते हुए महिला से कहा कि ‘जो भी हुआ अच्छा हुआ। शायद भगवान मुझे अपनी ओर से ये समय-समय पर बताते रहते हैं कि उन्हें हमेशा अपने पांव ज़मीन पर रखने चाहिए। मेरी असली पहचान सुपरस्टार नहीं, बल्कि एक आम इंसान की तरह ही है।’

इस पूरे वाकये के बारे में खुद उस महिला ने बताया, जिनका नाम डॉ. गायत्री है। उनके द्वारा लिखी गई एक बुक में इस पूरे वाकये की जानकारी दी गई थी। इस घटना के बाद शायद आप भी रजनीकांत की सादगी के कायल हो जाएँगे।

loading…


http://nationfirst.online/wp-content/uploads/2016/12/ffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffff.jpghttp://nationfirst.online/wp-content/uploads/2016/12/ffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffff-150x150.jpgadminspecialदेशहाल ही में रजनीकांत एक मंदिर में अपने सादे पहनावे में मंदिर गए, जहाँ दर्शन के बाद वे मंदिर के किनारे थोड़ी देर के लिए बैठ गए। तभी वहां से एक महिला गुजरी और उसने रजनीकांत को भिखारी समझते हुए 10 रूपए का नोट भीख में दिया। लेकिन रजनीकांत...nation first, truly Indian