Image result for share market india

शेयर बाजार में इस साल खूब हलचल रही। नया साल भी इससे अलग नहीं होगा। डॉनल्ड ट्रंप अगले महीने अमेरिका का राष्ट्रपति पद संभालने जा रहे हैं। भारत सरकार पर इकनॉमिक ग्रोथ तेज करने का दबाव है और विदेशी निवेशक यहां से रकम निकाल रहे हैं। ऐसे में नए साल में कम से कम शुरुआती कुछ महीनों तक निवेशकों में घबराहट रह सकती है।

शेयर बाजार 2016 के अंत में कमोबेश उसी लेवल पर रहेगा, जिस पर वह पिछले साल के अंत में था। इमर्जिंग एशियाई मार्केट्स में इस साल भारत सबसे खराब परफॉर्मेंस करने वालों में शामिल है। इन हालात में डॉलर मजबूत हो रहा है। नोटबंदी का भारतीय अर्थव्यवस्था और कंपनियों की प्रॉफिट ग्रोथ पर क्या असर होगा, इसके बारे में पक्के तौर पर कोई नहीं जानता। इन्वेस्टर्स को यह भी नहीं मालूम की ट्रंप किन नीतियों का ऐलान करेंगे। इसलिए निवेशक नए साल का स्वागत सावधानी से कर रहे हैं।

कोटक एएमसी के मैनेजिंग डायरेक्टर नीलेश शाह ने बताया, ‘अगले तीन महीने चैलेंजिंग हो सकते हैं। आरबीआई कितना कैश बैंकिंग सिस्टम में डालता है, ब्याज दरों में कितनी कमी होती है और बजट से कंजम्पशन को कैसे बढ़ावा मिलेगा, इन बातों से कंपनियों की प्रॉफिट ग्रोथ तय होगी। जब तक तस्वीर साफ नहीं होती तब तक मार्केट एक दायरे में रह सकता है।’

भारत में मार्केट की नजर इस पर होगी कि नोटबंदी का कंपनियों की प्रॉफिट ग्रोथ पर क्या असर होगा है, बजट कैसा रहता है और गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) कब से लागू होता है। वहीं, ग्लोबल फैक्टर्स में वे यह देखना चाहेंगे कि ट्रंप ने चुनाव प्रचार के दौरान जो वादे किए थे, वे उसे पूरा करते हैं या नहीं? अमेरिकी सेंट्रल बैंक फेडरल रिजर्व किस तेजी से इंटरेस्ट रेट बढ़ाता है और ब्रिटेन के यूरोपियन यूनियन से बाहर निकलने में क्या प्रोग्रेस होती है?

इडलवाइज सिक्योरिटीज के सीईओ विकास खेमानी ने कहा, ‘ग्लोबली, साल के पहले 6 महीने मुश्किल रह सकते हैं। भारत में जब तक कंपनियों की प्रॉफिट ग्रोथ नहीं बढ़ेगी, तब तक बड़ा रिटर्न मिलना मुश्किल है।’ फाइनेंशियल ईयर 2017 में इंडिया इंक का मुनाफा सिंगल डिजिट में बढ़ सकता है और 2018 में इसमें 12-15 पर्सेंट की तेजी आ सकती है। निफ्टी बुधवार तक पूरे साल में 1.1 पर्सेंट और सेंसेक्स 0.3 पर्सेंट ऊपर रहा। नवंबर के बाद से बाजार की हालत खराब है। नोटबंदी और ट्रंप के चुनाव जीतने के बाद से विदेशी निवेशक लगातार बिकवाली कर रहे हैं।

loading…


http://nationfirst.online/wp-content/uploads/2016/12/fffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffff.jpghttp://nationfirst.online/wp-content/uploads/2016/12/fffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffff-150x150.jpgadminspecialदेशशेयर बाजार में इस साल खूब हलचल रही। नया साल भी इससे अलग नहीं होगा। डॉनल्ड ट्रंप अगले महीने अमेरिका का राष्ट्रपति पद संभालने जा रहे हैं। भारत सरकार पर इकनॉमिक ग्रोथ तेज करने का दबाव है और विदेशी निवेशक यहां से रकम निकाल रहे हैं। ऐसे में नए...nation first, truly Indian