Archives for इतिहास - Page 2

इतिहास

जानिए गेस्टहाउस कांड, जब सपा के गुंडों से माया को बचाया था RSS लट्ठमार ने .

लखनऊ।2 जून 1995 को उत्तर प्रदेश की राजनीति में जो हुआ वह शायद ही कहीं हुआ होगा। मायावती उस वक्त को जिंदगी भर नहीं भूल सकतीं। उस दिन को प्रदेश…
Continue Reading
इतिहास

औरंगजेब की दमनकारी नीतियों के विरोध में इस वीर ने खोद डाली थी अकबर की समाधि,

अकबर का मकबरा मुघलो के लिए सम्मान का प्रतिक था..लेकिन एक ऐसा वीर था जिसने ओरंगजेब की दमनकारी नीतियों के खिलाफ आवाज बुलंद करने के लिए मुघलो के उस सम्मानित…
Continue Reading
special

प्रथम परमवीर चक्र विजेता मेजर सोमनाथ शर्मा-इनकी वजह से हीं आज भारत का हिस्सा है कश्मीर

सोमनाथ की कंपनी को 31 अक्टूबर 1947 को श्रीनगर ले जाया गया। उनका बायें हाथ पर पहले हॉकी मैदान में घायल होने की  वजह से प्लास्टर लगा हुआ था, लेकिन…
Continue Reading
special

एक ऐसा योद्धा जिसे शायद भूल गया भारत…

क्या आपने कभी सोचा है कि पूरे उत्तर भारत पर अत्याचार करने वाले मुस्लिम शासक और मुग़ल कभी बंगाल के आगे पूर्वोत्तर भारत पर कब्ज़ा क्यों नहीं कर सके ?…
Continue Reading
इतिहास

यहाँ अब तक सुरक्षित रखी गयी हैं नाथूराम गोडसे जी की अस्थिया

नाथूराम गोडसे ने अपनी बेरेटा पिस्टल की तीन गोलियाँ महात्मा गाँधी के शरीर में उतार दी थीं.गोडसे ने स्वीकार किया कि उन्होंने ही गांधी को मारा है. अपना पक्ष रखते…
Continue Reading
इतिहास

चाणक्य की ये 10 नीतियां ध्यान रखे , आपका फायदा होगा

चाणक्य की नीतियों का पालन किया जाए तो आज भी हम कई परेशानियों से और नुकसान से बच सकते हैं। चाणक्य अर्थशास्त्र के आचार्य थे और वे श्रेष्ठ कूटनीतिज्ञ भी…
Continue Reading
special

हिन्दुस्तान में जो 3 – 4 करोड़ मुसलमान पड़े है इन्होने ही ज्यादातर पाकिस्तान बनाने के लिए साथ दिया – सरदार पटेल

ये सरदार पटेल के शब्द हैं , '' कई लोग बोलते हैं कि हमें भारत एक सेकुलर देश ही चाहिए ,हिंदुओं का राज नहीं होना चाहिए ,कौमी राज नहीं होना…
Continue Reading
special

जब महाराणा प्रताप ने धर्म का पालन करते हुए की मुग़ल स्त्रियों की रक्षा.

  बात उन दिनों की है जब भामाशाह की सहायता सेराणा प्रताप पुनः सेना एकत्र करके मुगलों के छक्के छुड़ाते हुए डूंगरपुर, बाँसवाड़ा आदि स्थानों पर अपना अधिकार जमाते जा रहे थे।एक…
Continue Reading
इतिहास

17 बार भारत को लूटने वाले महमूद गजनवी की हुई थी ऐसी दर्दनाक मौत

महमूद ग़ज़नवी के बारे में तो आपने सुना ही होगा जिसके आक्रमण और लूटमार के काले कारनामों से तत्कालीन ऐतिहासिक ग्रंथों के पन्ने भरे हुए हैं। महमूद ग़ज़नवी मध्य अफ़ग़ानिस्तान…
Continue Reading
special

यदि ये नहीं करते सावरकर तो देश और शहीदों के साथ हो जाता बड़ा अन्याय, हो जाता हिंदुत्व का खात्मा …

1857 में हुए देश के पहले स्‍वतंत्रता आंदोलन से लेकर 15 अगस्‍त 1947तक देश की आजादी के लिए एक नहीं, बल्‍कि क्रांति की अनगिनत धाराएं बह रही थीं। यह वह…
Continue Reading